गुना. गुना (guna) में शादी समारोह (marriage) में शामिल हुए 80 से ज्यादा लोग फ़ूड पॉइजनिंग का शिकार हो गए.  उल्टी दस्त से पीड़ित महिला पुरुष और बच्चों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है. अस्पताल में भर्ती सभी मरीजों की हालत स्थित बताई जा रही है.लेकिन शादी के इस मामले में बराती-घराती दोनों कोरोना गाइड लाइंस की धज्जियां उड़ा रहे थे. शादी में तय संख्या से ज़्यादा लोग शामिल थे.इस मामले ने प्रशासन की लापरवाही भी सामने ला दी है.गुना के सिटी कोतवाली क्षेत्र की श्रीराम कॉलोनी में दीपक पंथी नाम के युवक की शादी थी. शादी समारोह में शामिल होने के लिए लगभग 300 से ज्यादा लोग कार्यक्रम में पहुंचे.  रात्रिभोज में शामिल होने वाले मेहमानों के लिए व्यंजन तैयार किए गए थे.  लेकिन रात्रिभोज के बाद एक एक कर के 80 से ज्यादा लोग फ़ूड पॉइजनिंग का शिकार हो गए. सभी को  उल्टी दस्त की शिकायत होने लगी. शादी समारोह में हड़कंप मच गया. मेहमानों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया.  इन मरीजों में से कुछ लोग गंभीर तौर पर डिहाइड्रेशन का शिकार हुए हैं.

प्रशासन की लापरवाही
इस मामले में प्रशासनिक अमले की लापरवाही भी देखने को मिली.कोरोना गाइड लाइंस के अनुसार जिले में यदि कोई शादी समारोह आयोजित होता है तो वर वधु दोनों पक्षों के कुल मिलाकर सिर्फ 50 लोगों को शामिल होने की छूट है. इसके लिए SDM कार्यालय से अनुमति मिलने के बाद ही कार्यक्रम आयोजित किया जा सकता है.लेकिन गुना में हो रहे इस शादी समारोह में तय संख्या से कहीं ज़्यादा मेहमान इकट्ठा थे. ये जांच का विषय है कि शादी समारोह की इजाजत ली गयी थी या नहीं. और अगर ली गयी थी तो प्रशासन ने इस पर नज़र क्यों नहीं रखी. समारोह में इतनी भीड़ कैसे इकट्ठा हो गयी. समारोह में फूड प्वायजनिंग होने से मामले का खुलासा हुआ. लेकिन इस भीड़ में अगर कोई कोरोना संक्रमित व्यक्ति होगा तो ये बीमारी फैल सकती है.